क्या 5G इंटनेट से हमे Cancer हो सकता है ? 5G internet in Hindi


899
899 points

नमस्कार दोस्तों 5G के फोन 2019 में आएंगे और असली में 5G का connection इंडिया में 2020 तक आ जायेंगे बस अब देखना इतना है की क्या 5G से किसी को खतरा भी हो सकता है या नहीं और इस Article related जितने भी Fact और Recharge paper की लिंक हम ने आखिर में दी है तो अगर आप crosscheck करना है तो post के आखिर में जाकर उन्हें Check कर सकते हो

 

 

तो सब से पहिला यह जानते है की क्या radiation से Cancer होता है ? तो अगर हम बात करे Normal Network की जैसे की 2G-3G-4G या आनेवाले 5G यह सब Non-ionizing पर काम करते है जिस से यह Proof हो चूका है की इन से कोई Cancer नहीं होता है | और जिन से cancer होता है यह सब ionizing के अंदर आता है

 

 

और अगर हम इंडिया में radiation की बात करे तो Mobile के अंदर जो (SAR) Specific absorption rate 

वो India में 1.6 W/kg जो बहोत ही ज्यादा कम है जो आप के body के temperature को थोडासा बढा देता है। पर कही सारे यूरोपियन country है जहा पर यही SAR 2 W/kg तक है और Actually अगर हम इस rating की बात करे तो इस rating से किसी human को cancer होना impossible है

और अगर हम radio frequency की बात करे जो एक electro magnetic radiation होती है तो क्या उस से cancer हो सकता है ? तो 2009 और 2010 में inter-full Study आयी थी और इन दोनों में भी यह बताया गया था की उतना data हमारे पास हे ही नही है जो यह पता लगाया जा सके की mobile phone के वजह से Cancer -वगेरा होता है | लेकिन 2011 में World Health Organization (WHO) ने आपने एक report में बताया था की mobile phone में एक carcinogenic Component होते है जिसके वजह से शायद Cancer होते है

 

 

लेकिन यह बात Sure नहीं है क्यों की इसके बारे में अबतक कोई positive Result नही आया है और अगर हम कुछ recent Study की बात करे जो 2016 में USA के अंदर हुयी थी जो National Toxicology Program ने चूहे पर एक छोटी सी Study की थी जहा चूहे को GSM और CDMA signal के अंदर रखा था और इन single को दिन में 9 घंटे उन चूहे के body पर चलाई गयी थी और यह experiment पुरे 2 साल चलाया गया था जिसका SAR rating 15W/kg था जो किसी normal SAR rating से 10 गुणा ज्यादा था और 2 साल के बाद यह पता चला की बहोत ही ऐसे कम चूहे थे जिन्हे थोड़ा -बहोत tumor आया था और बाकि के सारे चूहे healthy थे और दोस्तों यहां एक बात notice करने वाली यह है की यह radiation चूहों के पुरे body पर दिया गया था और यहा Mobile phone की बात करे human के लिए तो उनका केवल parshal body ही explore होता है और ऊपर से Mobile की SAR rating केवल 1.6 W/kg होती है तो इस Study से यह पता नहीं चला की Mobile phone से cancer होता है या नहीं

उसके बाद stephen chance ने जो director है Division of Cancer Epidemiology and Genetics के उनका जो institute है वो पिछले 2004 से यह पता लगाने की कोशिश कर रहे है की Mobile से brain tumor होता है की नही और यह experiment general public के ऊपर कर रहे है पर अबतक उन्होंने ऐसा एक भी case ढूंढ नही पाए है जिस से mobile phone से brain cancer होता है

और अगर USA की बात करे तो USA में mobile phone 1983 से चालू हुआ है और सब से तेज़ी से mobile USA में ही grow हुआ है तो अगर mobile phone से cancer होता तो cancer के सब से ज्यादा पेशंट हमे USA में ही देखने मिलते थे.

 

दोस्तों 5G की बात करे जिस में millimeter Wave को इस्तिमाल किया जाता है तो क्या यह हानिकारक होती है ? तो दोस्तों देखा जाये तो जो millimeter Wave होती है वे काम कराती है 24GHz से 29GHz के Range में तो दोस्तों यहा पर आप को एक बात बताना चाहते है की इस frequency की जो Range होती है उनका reflation rate ज्यादा होता है याने की अगर आप के body पर यह rate पड़ेगी तो वे फिर से bounce back हो जाएगी और यह rate बहोत कम ही observe होती है इसीलिए इसके बहोत कम chances है की आप की body ऐसे radiation को observe करे और उसके आपके body में cancer को produce करे |

याने इन सब Study का एक हल निकालता है की हमारे human body पर 5G का कोई बुरा असर नही होगा ,अगर आप को Social media पर ऐसे कोई news मिलती हो की 5G के वजह से हमे cancer होगा तो दोस्तों यह सारे News और Video fake है…

 


What's Your Reaction?

hate hate
0
hate
DISLIKE DISLIKE
0
DISLIKE
GREAT GREAT
0
GREAT
LOVE LOVE
0
LOVE
omg omg
0
omg

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *