Export meaning in Hindi – Export ka hindi meaning kya hota hai

Export meaning in Hindi : एक्सपोर्ट का मतलब माल बाहर भेजना या निर्यात करना होता है | अक्सर आप ने import – export जैसे व्यापार का नाम सुना होगा

जहा दूसरे देश से माल को अपने देश में लाना याने इम्पोर्ट और अपने देश से दूसरे देश में माल को भेजना याने एक्सपोर्ट होता है

आज हम Export संबंधित सभी प्रकार के जानकारी सरल भाषा में जानने की कोशिश करेंगे जिसके वजह से आप को Export meaning क्या होता है यह पता चलेगा

कही लोगों के निवेदन के बाद हम ने इस वेबसाइट पर FREE इम्पोर्ट एक्सपोर्ट व्यापार की सीरीज शुरू की है

यदि आप भी वर्तमान तथा भविष्य में इम्पोर्ट एक्सपोर्ट के व्यापार में आना चाहते है तो यहाँ साझा किये आर्टिकल आप को बहोत मददगार साबित हो सकते है क्यों की यहाँ शेयर किये सभी आर्टिकल विशेषज्ञ के द्वारा साझा किये जाते है

 

Export meaning in Hindi - Export ka hindi meaning kya hota hai
Export meaning in Hindi

 

Export meaning in Hindi – Export ka hindi meaning kya hota hai

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में ट्रेड (व्यापार) करना याने इम्पोर्ट एक्सपोर्ट करना होता है | अगर केवल Export की बात करे तो भारत ने पिछले साल 324 बिलियन USD के प्रोडक्ट (माल) एक्सपोर्ट किया था !

और यह किंमत Bangladesh, Egypt, Pakistan, Vietnam जैसे देशो के GDP (Gross domestic product) से भी ज्यादा है

भारत अपने 324 बिलियन डॉलर में से करीबन 48% का Export एशियाई देशों में करता है

उसी तरह करीबन 19% का Export, Europe 19% North America और 9% Africa और 3% South America जैसे देशो में करता है

अगर प्रोडक्ट की बात करे तो 7500 से अधिक प्रोडक्ट की निर्यात भारत दुनिआ भर के 200 देशों में करता है जिसे से आप एक अंदाजा लगा सकते है की भारत में कितने सारे प्रोडक्ट है जिसके अंतर्राष्ट्रीय बाजार में डिमांड है

 

अपने देश की वस्तु को विदेश में भेजना क्या कहलाता है

अपने देश की वस्तु को विदेश में भेजना याने निर्यात करना होता है | निर्यात को इंग्लिश में Export कहते है और अगर आप  हमे पूछते है Export meaning क्या होता है तो इसका सरल जवाब है Export meaning देश की वस्तु को विदेश में भेजना होता है

आप देश के किसी भी माल (प्रोडक्ट) विदेश भेज सकते है | लेकिन देश के माल को विदेश भेजने के लिए याने Export का व्यापार शुरू करने के लिए कुछ शर्तें और Document का होना जरूरी होता है उसके बिना Export business शुरू करना असंभव है

 

एक्सपोर्ट का व्यापार कैसे शुरू करे | विदेश में सामान बेचने की पूरी प्रोसेस 

यदि आप Export के व्यापार में रूचि रखते है तो बेशक हमे आप को यह बताने में ख़ुशी होगी की आप आमिर बनने के सही रास्ते पर हो |

बस अब आप को उस रास्ते पर सही तरह से चलना होगा क्यों की इस व्यापर में बहोत पैसे है लेकिन रिस्क भी उतनी ही होती है और अगर आपने आमिर बनने के सपने देख लिए है तो यह रिस्क आप को बहोत आगे लेकर जाएगी

विदेश में सामान बेचने के लिए सब से पहले आप को Document बनाना जरूरी होता है और यह Document इतने जरूरी होते है की इसके बिना इम्पोर्ट / एक्सपोर्ट का व्यापार करना असंभव है

निचे हम ने एक्सपोर्ट व्यापार के लिए लगने वाले सभी महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट और अकाउंट की लिस्ट दी है उसके अनुसार आप के पास यह सभी डॉक्यूमेंट होना अनिर्वाय है

  • current account
  • Adhar card / pan card
  • GST Number
  • IEC ( import export number )
  • AD Code (authorised dealer)

 

Current Account :

यदि आप बैंक में अकाउंट खुलवाते है तब आप के समाने 2 विकल्प होते है जैसे की Saving Account और Current Account | सेविंग अकाउंट यह सभी के लिए होता है लेकिन करंट अकाउंट खास व्यापारी के लिए होते है ,

बैंक में करंट अकाउंट खोलने के लिए कुछ शर्ते भी लागु होते है जो आप को बैंक जे कर्मचारी बता देंगे लेकिन अगर आप को Export या import करना है तो बैंक में Current Account होना जरूरी है

 

Adhar card / pan card :

भारत सरकार द्वारा भारत के नागरिकों को जारी किया जाने वाला पहचान पत्र है। इसमें 12 अंकों की एक विशिष्ट संख्या छपी होती है जिसे भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (भा.वि.प.प्रा.) जारी करता है।यह संख्या, भारत में कहीं भी, व्यक्ति की पहचान और पते का प्रमाण होता है

हर सरकारी कामों के लिए या हम भारत के नागरिक होने के प्रमाण देने के लिए Adhar card / pan card की जरूरत होती है और हम आशा करते है की यह डॉक्यूमेंट आप के पास जरूर होंगे |

और किसी कारन आप ने अभीतक Adhar card / pan card  नहीं बनाया है तो आज बना लीजिए क्यों की यह भविष्य में आप को बहोत काम आनेवाला है

 

GST Number : 

Gst का fullform ( Goods and Services Tax ) है जिसे हमे हर एक प्रोडक्ट पर टैक्स के रूप में देना होता है | यदि आप व्यापारी हो या ग्राहक हो आप को यह टेक्स सरकार को देना जरूरी है

और इस टैक्स की पुष्टि करने के लिए सरकार व्यापारी को GST number प्रदान करती है | GST नंबर लेने की भी एक सिमा होती है

याने जिसकी कमाई 20 से 21 लाख के ऊपर है उन व्यापारी को GST लेना अनिर्वाय है और जिनकी कमाई 20 लाख के अंदर है उन्हें GST नंबर लेने की जरूरत नहीं है

लेकिन यदि आप Ecommerce या import / export का business करना चाहते है तो आप को GST number लेना अनिवार्य है

 

IEC ( import export number ): 

यदि आप इम्पोर्ट एक्सपोर्ट का व्यापार शुरू करना चाहते है तो आप के पास IEC (import export number) होना अनिर्वाय है जो 10 नंबर का डिजिट होता है

जिसके चलते सरकार आप के Goods पर कस्टम टैक्स लगाती है और आप के माल पर निगरानी रखती है |

import export number से ही सरकार को पता चलता है की कौनसा व्यापारी कौनसे कंटेनर से किस तरह के माल का इम्पोर्ट /एक्सपोर्ट कर रहा है

और उस माल के श्रेणी के अनुसार उसपर जो Taxes और Duty होगी वो उस व्यापारी को सरकार को देना होता है इसके अलावा IEC का काफी सारे फायदे व्यापारी को भी होते है

जिसके बारे में हम आनेवाले लेख में पता करेंगे फिलाल तो यह जान लीजिये यदि आप एक्सपोर्ट का व्यापार शुरू करना चाहते है तो आप के पास IEC का होना जरूरी है

 

AD Code (authorised dealer)

इंटरनेशनल ट्रेडिंग में सभी देशो के सरकार ने आपस में एक Incoterms बनाया है और यह सभी तरह के इंटरनेशनल ट्रेडिंग Incoterms के अनुसार होती है

जहा माल के पैसो का लेन देन में किसी भी तरह की धोखाधड़ी ना हो | इसीलिए दोनों देशों के बिच में बैंकों विश्सनीय हिस्सा होता है |

और दोनों देशो के बिच में बैंक के जरिये पैसो का लेन देन करना हो तो व्यापारी के पास AD Code (authorised dealer) होना जरूरी होता है

आप ने जिस बैंक में करंट अकाउंट ओपन किया है उसी बैंक का AD Code (authorised dealer) आप के पास होना चाहिए जिसे आप उस बैंक के मैनेजर से प्राप्त कर सकते है

AD Code एक लेटर हेड होता है जिसमे आप के कंपनी की डिटेल्स, IEC नंबर और बैंक के मैनेजर की साइन होती है

यह सभी डॉक्यूमेंट कलेक्ट करने के बाद आप अपने CHA से बात करे जो आप का माल विदेश में भेजने के मदत करेगा | CHA के मदत के बिना आप कार्गो का इम्पोर्ट एक्सपोर्ट नहीं कर सकते है

 

Export ka matlab kya hota hai – Export meaning in Hindi

Export का मतलब अपने देश से किसी भी सामान या माल को किसी अन्य देशो में भेजना होता है | इन माल को हवाई जहाज, या समुंदर के रास्ते 20 या 40 फ़ीट के कंटेनर में भर कर अन्य देशो में भेजा जाता है

भारत से ज्यादा मात्रा में निचे दिए सामान का एक्सपोर्ट किया जाता है जैसे की :

  1. Ceramics
  2. Textiles
  3. pickle and spice
  4. Regional Handicrafts
  5. Organic Supplements and Medicines
  6. Meat Exportation
  7. Dairy Products
  8. Homeopathy Medicines
  9. Jewelry and Precious Stones
  10. Leather and Leather Products
  11. Petroleum Products
  12. and more

 

Import / Export Contacts On Your Smart Phone in Hindi 

इम्पोर्ट एक्सपोर्ट व्यापार के अलवा यह शब्द आप को तकनीकी डिवाइस में भी सुनने को मिल सकते है

जैसे की स्मार्टफोन में यदि आप को अपने Contact Number का Backup लेना है तो सब से पहले आप को अपने conact number के .VCF फाइल को Export करना होगा

जिस के बाद आप उस VCF फाइल Backup के नाम पर अपने ईमेल या हार्डडिस्क में सेव कर के रख सकते है और जभी आप को लगे की आप के फोन के Contact Number फिर से मोबाइल में रिस्टोर करना चाहिए तब आप उस .VCF को अपने मोबाइल में import कर सकते है |

 

(Conclusion) 

आज हम ने Export meaning in Hindi – Export ka hindi meaning kya hota hai जैसे महत्वपूर्ण विषय के बारे में जाना यदि आप भी वर्तमान तथा भविष्य में आयात-निर्यात से जुड़े व्यापार को करना चाहते है

और आप को इस व्यापार के लिए हमारी सहायता चाहिए तो हमे आप की सहायता करने में ख़ुशी होगी इसीलिए मन में उठे सवालों को निचे कमेंट में बताये और इंतजार करे हम उसी दिन आप के कमेंट का रिप्लाई देंगे | धन्यवाद

2 thoughts on “Export meaning in Hindi – Export ka hindi meaning kya hota hai”

  1. बहुत ही अच्छी जानाकारी दी है आपने
    जिसके लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!