मेरे फोन की रैम कितनी है – Mere Phone ki Ram kitni Hai Hindi

मेरे फोन की रैम कितनी है – RAM कम्प्युटर और मोबाइल डिवाइस का सबसे महत्वपूर्ण पार्ट में से एक है जो मोबाइल डिवाइस में Application को Store और Run करने के लिए मदद करती है।

किसी भी डिवाइस में रैम जितना अधिक होती है, वह डिवाइस उतना ही अधिक तेजी से एप्लिकेशन को रन कर पाती है

जब भी किसी एप्लिकेशन को ओपेन किया जाता है, तब यह रैम उस पर्टिकुलर मोबाइल ऐप के डाटा को Execute करने में मदद करती है।

इस तरह आप समझ सकते है कि किसी भी मोबाइल या कम्प्युटर सॉफ्टवेयर को रन करने के लिए RAM का सबसे महत्वपूर्ण योगदान होता है, जिसकी मदद से डिवाइस यह तय कर पाता है कि उन्हे कौन-से सॉफ्टवेयर को किस समय रन करना है।

अक्सर आपने सुना होगा कि जितना अधिक मोबाइल में रैम होगी, वह उतना ही अधिक फास्ट चलेगी और मोबाइल कभी हैंग नही करेगी।काफी हद तक यह बात सही भी है

इसीलिए लोग जब भी एक नई स्मार्टफोन लेने का सोचते है, तब वह अधिक से अधिक GB (GigaByte) वालें फोन ही लेना पसंद करते है।

इंटरनेट पर इससे संबन्धित बहुत सारें सवाल सर्च किये जाते है जिसमें लोग जानना चाहते है कि मेरे फोन की रैम कितनी है – Mere Phone Ki RAM Kitani Hai आप भी अगर इस तरह के सवाल को इंटरनेट पर सर्च कर रहें है

तब आपको इस ब्लॉग पोस्ट को शुरवात से अंत तक जरूर पढ़ना चाहिए क्यों की इस पोस्ट में हम ने RAM संबंधित कही सवाल और उनके जवाब प्रदान किये है जिसका आप को वर्तमान तथा भविष्य में जरूर फायदा होगा

 

मेरे फोन की रैम कितनी है – Mere Phone ki Ram kitni Hai Hindi

 

Mere Phone ki Ram kitni He
Mere Phone ki Ram kitni He

 

RAM क्या है – RAM in Hindi

यह किसी भी मोबाइल या कंप्यूटर डिवाइस का Primary Memory होती है जिसका काम किसी भी एप्लिकेशन और सॉफ्टवेयर को रन करना होता है।

इस तरह के डिवाइस पार्ट का काम उस समय होता है जब हमें अपने मोबाइल में किसी भी प्रकार का ऐप इन्स्टाल करनी होती है | या फिर उसका उपयोग करनी होती है।

जब हम एप्लिकेशन को बंद कर देते है तब रैम से पहले की सभी डाटा स्वत: डिलीट हो जाती है। जो Secondary Memory हार्ड ड्राइव से काफी तेज गति से काम करती है। यह एक प्रकार की चिप कार्ड होती है जो एप को Execute करने में मदद करती है।

RAM का full form Random Access Memory होती है जो सेमीकंडक्टर से बनी हुई एक मेमोरी सिस्टम होती है

जिसे वैरिएबल मेमोरी भी कही जाती है। इसका काम एप्लिकेशन के डाटा को सेव रखनी होती है, जिसे यूजर अपने अनुसार कमांड देते रहते है।

जब भी हम अपने मोबाइल या कम्प्युटर में एप्लिकेशन को ओपेन करने के लिए कमांड देते है इस दौरान रैम का काम मिली हुई कमांड को मोबाइल के हार्ड ड्राइव यानि इंटरनल स्टोरेज से उसका डाटा को अपने में स्टोर करके उस प्रोग्राम को एग्जीक्यूट कर रन कराने में मदद करती है।

 

रैम कितने प्रकार के होते है – Types of RAM in Hindi

आमतौर पर रैम को दो प्रकार में विभाजित की जाती है:

  1. SRAM : जिसका पूरा नाम Static Random Access Memory होता है। जिसे Cache Memory भी कहते है। यह डिवाइस बंद हो जाने पर भी उसमें स्टोर डाटा को फिर से उसी रूप में लाने का काम करती है, जिससे यूजर को सभी चीज़ वैसे ही दिखती है।
  2. DRAM : जिसका पूरा नाम Dynamic Random Access Memory होती है। जो SRAM के पूरा विपरीत काम करती है जिसे बार-बार रिफ्रेश करने की जरूरत पड़ती है। इसमे सबसे ज्यादा परेशानी डाटा को स्टोर करने मे होती है, क्योंकि इसके लिए बार-बार Memory Refresh करनी होती है।

 

मेरे फोन की रैम कितनी है – Mere Phone Ki RAM Kitani Hai

देखिये, अब जितना भी स्मार्टफोन लांच होते है, उनमें कम से कम 2GB RAM होती ही है| जिसे आज की तारीख में सबसे कम रैम वाली डिवाइस मानी जाती है जो मोबाइल रैम और मोबाइल इंटरनल स्टोरेज का आपस में कॉम्बिनेशन होती है।

अगर आपके पास 2GB RAM वाला फोन है है तब उसका इंटरनल स्टोरेज 32GB होगी, तो वहीं 4GB रैम होने पर 64GB स्टोरेज मिलती है। यह आंकड़ा इसी तरह चलता है।

अगर आपको नही पता की आपके मोबाइल में कितनी रैम है तब नीचे बताये स्टेप को फॉलो कर सकते है :

1) फोन की रैम कितनी है पता करने के लिए आपको उस मोबाइल फोन को अपने हाथ में लेना है

2) उसके बाद आपको मोबाइल में Setting नाम नाम का विकल्प दिखाई देगी, जिसमें गिअर जैसा आइकॉन होगा, उस पर क्लिक करें।

ज्यादातर सभी मोबाइल उपभोक्ता को सेटिंग के बारे में पता होता है इसीलिए उन्हें यह विकल्प मोबाइल में खोजने के लिए ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं होती है

3) अगर आपको अपने मोबाइल का सेटिंग नही मिल रही है तब नोटिफ़िकेशन बार को ओपेन करें, जहाँ से आप इंटरनेट को ऑन करते है। जिसके सबसे ऊपर राइट साइड में सेटिंग का आइकॉन होगा।

 

मेरे फोन की रैम कितनी है - Mere Phone ki Ram kitni Hai Hindi

 

4) वहा आने के बाद आपको About Phone नाम के विकल्प को खोजना है जो हर एक मोबाइल में उपलब्ध होता है,

अगर यह आपको नही मिलती है तब ऊपर में दी गई सर्च बार में इसे सर्च करें। इसके अलावा किसी फोन में Device Maintenance नाम की विकल्प दिखाई देती है। वहा आप क्लिक कर सकते है

5) किसी मोबाइल में About phone, Device Maintenance नामक बटन पर क्लिक करते ही ” मैमोरी जिसे Ram कहते है उसके बारे में पता चल जाता है

लेकिन, कुछ डिवाइस में About phone या Device Maintenance के बाद और एक विकल्प आता है जिसे All Specs के नाम से जाना जाता है यूजर को उसपर क्लीक करना होता है

 

Mere Phone ki Ram kitni Hai Hindi

 

6) जिसके बाद आप देख सकते है कि आपके Mobile me kitna RAM Hai जहाँ पर इसके अलावा Model Number, Processor, Device storage, Android Version, Build number इत्यादि के बारें में भी देखा जा सकता है।

7) ऊपर में बताई गई सभी स्टेप्स को फॉलो कर के हम यह जान सकते है कि मेरे फोन की रैम कितनी है ? इसके साथ ही आप अपने मोबाइल के बारें में सभी जानकारी इस सेटिंग में जाकर देख सकते है।

अब हम आगे इससे संबन्धित इंटरनेट पर सर्च किये जा रहें पॉपुलर सवाल के बारें में जानने वालें है।

 

जिओ फोन की रैम कितनी है – Jio Phone RAM in Hindi

Jio Mobile भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाले फोन में से एक है | जिसे वह लोग भी खरीद सकते है जो महँगी फोन नही ले सकते है। हालांकि सभी प्रकार के फोन में रैम मौजूद होती है जो उसके सिस्टम, मॉडेल स्पेसिफिकेशन के ऊपर निर्भर करती है।

अगर हम जिओ फोन रैम की बात करें तो इसमें आपको 512 MB का रैम और 4GB स्टोरेज मिलती है जो अधिकतर लोगों के पास मौजूद फोन में होती है।

इसके अलावा Jio Phone Next में 2GB RAM, 16GB storage मिलती है। नीचे जिओ के हर फोन के रैम और स्टोरेज का लिस्ट दी गई है जिसे के बार जरूर पढ़ लीजिये :

Model Name RAM Storage
Jio Phone 4G 512MB 4GB
Jio Phone 3 2021 512MB 4GB
Jio Phone 2 512 MB 4GB
Jio Phone 3 2GB 32GB
Jio Phone 5G 1GB 8GB
Jio Phone Next 2GB 16GB

 

फोन की रैम खाली कैसे करें – मोबाइल की RAM कैसे बढ़ाते है

Android Mobile Ki Ram Kaise Badhaye : जब आपके मोबाइल में RAM Space कम होती है, तब मोबाइल अक्सर स्लो वर्क करने लग जाती है और हैंग करती रहती है।

एक बात आपको ध्यान में रखनी होगी, कि आपके मोबाइल में रैम स्पेस जितना अधिक खाली रहेगा वह उतना ही आप का मोबाइल अधिक फास्ट काम करेगा ।

लेकिन आजकल बहुत सारें लोगों के पास मोबाइल स्लो और हैंग होने वाली समस्या है जिसे काफी हद तक अपनी मोबाइल की रैम को खाली करके उसे फिर से अच्छे से काम करवा सकते है इसके लिए आपको नीचे बताई गई सभी बातों को फॉलो करें :

  • उन सभी एप्लिकेशन को अपने मोबाइल से अनइंस्टॉल करें, जिसका इस्तेमाल आप नही करते है।
  • किसी भी ऐप की सारी डाटा उसके Cache Memory में सेव रहती है जो बहुत सारें स्टोरेज कैप्चर करके रखता है। इसलिये आपको मोबाइल कैश को Settings –> Storage & USB–> Internal Storage–>Cached Data पर जाकर डिलीट करनी होगी।
  • उन सभी फोटो को फोन से डिलीट करें, जो आपके काम की नही है। इसके अलावा अब के स्मार्टफोन में डिलीट हुई फोटोज Recently delete नाम की फोल्डर में आ जाती है जो सीधे रैम के स्पेस को कम कर देती है इसलिए इन जंक फ़ाइल को यहाँ से भी डिलीट करें।
  • मोबाइल के Home screen से बिना काम के एप्लिकेशन Widgets को डिलीट करें।
  • फोन के Home button प्रेस करके Recently use application को क्लोज़ करें, जो रैम स्पेस को खाली करने में बार-बार वाधा उत्पन्न करती है। इस तरह का काम बार-बार फोन बंद करने से पहले तक करते रहें।
  • उन Running Services को Settings -> More Settings/Addition Settings -> Running Services पर जाने के बाद उन सर्विस को बंद करें, जिसका इस्तेमाल आप नही करते है
  • अगर आपने मोबाइल के स्क्रीन पर Live Wallpaper लगा रखें है, जो Animated जैसे काम करती रहती है उसे रिमूव करें, क्योंकि यह हमेशा रैम का इस्तेमाल करते रहती है।
  • अगर फोन की मेमोरी भर जाए तो अपने फोन से उन सभी फ़ाइल, एप इत्यादि को डिलीट करें, जो आपके किसी काम का नही है।
  • फोन की स्टोरेज खाली करने के लिए उन विडियो को भी हटाएँ जो |आप के किसी काम की नहीं होती है, अगर आप के मोबाइल का स्टोरेज फ्री होगी तो आप के मोबाइल का प्रोसेसर भी तेज़ चलेगा

 

सबसे ज्यादा रैम वाला मोबाइल – Sabse Jyada RAM Wala Mobile

आपके मोबाइल में जितना अधिक रैम होगी, आप उतना ही अधिक एप्लिकेशन को अपने स्मार्टफोन में इन्स्टाल कर सकते है और एक समय में कई ऐप को चला सकते है। आजकल हर कोई अधिक रैम वाला मोबाइल लेना चाहता है,

जिसमें वह अक्सर 2GB, 4GB, 6GB, 8GB, 10GB, 12GB वालें मोबाइल ले लेते है, लेकिन आपको बता दें, ऐसी बहुत सारी मोबाइल कंपनी है जो कस्टमर एक्सपेक्टेशन से भी अधिक रैम फोन में दे देते है।

जिसमें प्रमुख नाम Samsung, Asus, Oppo, Realme, OnePlus इत्यादि मोबाइल कम्पनियों का है।

इसके साथ ही इन सभी फोन में सबसे ज्यादा रैम होने के साथ उसमें 256GB से भी अधिक इंटरनल स्टोरेज भी दी जाती है।

जो सभी android के अलग-अलग वर्जन पर काम करती है जिसका UI (user interface) अलग-अलग होता है।

 

मोबाइल में रैम रॉम क्या होता है – Mobile RAM ROM in Hindi

जैसा की पहले भी आपने जाना कि मोबाइल या कम्प्युटर रैम किसी भी प्रकार के एप्लिकेशन या सॉफ्टवेयर को रन करने का काम करती है, लेकिन रॉम (ROM) उस ऐप में मौजूद डाटा को रीड कर यूजर के सामने दिखाने का काम करती है।

ROM full form Read Only Memory होती है। जिससे हम इसके नाम से ही पता लगा सकते है कि यह रैम रॉम डाटा को रीड करने का काम करती है। पहले बताई गई सभी बातें कम्प्युटर डिवाइस के लिए लागू होती है,

लेकिन जैसे ही मोबाइल रैम रॉम के बारें में बात की जाती है तब इसकी Concept बदल जाती है।

दरअसल मोबाइल का Internal storage ही Mobile Rom होती है। मोबाइल में मिलने वाली स्टोरेज मे EEPROM flash chip होती है जिसकी स्टोरेज क्षमता अधिक होती है।

हालाँकि हर flash chip को ROM नही कहा जाता है। जहां पर डाटा रीड ओन्ली का Concept आती है उस जगह पर इसका उपयोग होती है।

मोबाइल का इंटरनल स्टोरेज डाटा को सेव और रीड करने का भी काम करती है, इसलिए इसे मोबाइल रैम रोम कहते है।

 

मोबाइल रैम कैसे काम करती है – Mobile RAM work in Hindi

जब भी हम अपने मोबाइल में किसी भी प्रकार के एप्लिकेशन को इन्स्टाल करते है तब वह मोबाइल के इंटरनल स्टोरेज में इन्स्टाल या स्टोर होती है, लेकिन जब उसे ओपेन यानि रन की जाती है उस जगह पर रैम की भूमिका आ जाती है।

कोई भी मोबाइल ऐप ठीक तरह से काम करेगी या नही? यह सभी बातें उसके RAM पर निर्भर करती है।

आप मोबाइल में जीतने भी काम करते है उन सभी को रैम ही पूर्ण करता है। अब के फोन में एक साथ कई ऐप का इस्तेमाल हो रही है जो बेहतर रैम का ही एक उदाहरण है।

इस तरह आप समझ सकते है मोबाइल में जितना भी मल्टीटास्टिंग वर्क जैसे WhatsApp Chat, Facebook Feed, Instagram Reels, Brows इत्यादि रैम के जरिये ही संभव हो पाता है।

 

कितने जीबी रैम वाला स्मार्टफोन लेना चाहिए

देखिये यह बात हर यूजर के बजट पर निर्भर करती है अगर आप मोबाइल गेम खेलने के शौकीन है तब आपको 6GB से ऊपर वालें ही फोन को लेनी चाहिए, क्योंकि गेम का साइज़ अधिक होती है और वह बहुत रैम का इस्तेमाल करती है।

तो वही अगर आप सामान्य ऐप इस्तेमाल करना चाहते है तब आपको 2GB से लेकर ऊपर अपना बजट के अनुसार स्मार्टफोन ले,

लेकिन अपनी मन से इस भांति को निकाल देनी चाहिए कि ज्यादा रैम से आपको ज्यादा स्पीड भी मिल जाएगी।

यह बात मोबाइल के अन्य चीजों पर भी निर्भर करती है। इसके लिए आला दर्जे का प्रोसेसर, लेटेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ ज्यादा रिफ्रेश रेट और टच सैंपलिंग रेट वाला डिस्प्ले होनी चाहिए।

मोबाइल कंपनी रैम के अनुसार ही अन्य चीज़ उसके स्पेसिफिकेशन पर देती है। इसीलिए मोबाइल लेते समय हमे उसके पुरे हार्डवेयर के बारे में देखना जरूरी होता है

 

FAQ’s – Mere Phone ki Ram kitni Hai Hindi

Q. रैम और रोम में क्या अंतर है?

मोबाइल रैम एप्लिकेशन को ओपेन करने पर रन करने में मदद करती है और उस पर किए गए टास्क को कंप्लीट करती रहती है, तो वही रोम उस एप्लिकेशन में हो रही एक्टिविटी को डाटा के रूप में सेव और रीड करने का काम करती है और जब यूजर को इसकी जरूरत पड़ती है तब उसे वहाँ से देख भी सकते है।

Q. रैम का क्या मतलब होता है?

इसका मतलब रैंडम एक्सेस मेमोरी होती है। जिसका काम उस समय होती है जब किसी भी एप्लिकेशन को ओपेन की जाती है, जिसमें यह उसे चलाने का काम करती है, लेकिन जैसे ही सॉफ्टवेयर को क्लोज़ कर दी जाती है, तब इसके अंदर से सभी डाटा अपने आप डिलीट हो जाती है, जिसे रोम स्टोर करके रख लेता है।

Q. मोबाइल की रैम कैसे बढ़ाते है?

इसके लिए आपने मोबाइल से उन एप, फोटो, विडियो, कैशे इत्यादि को डिलीट कर देनी चाहिए, जिसका इस्तेमाल आप अधिक नही करते है और वह फोन में ऐसे ही इन्स्टाल है। इस सवाल का जवाब ऊपर में विस्तार में बताया गया है

Q. जिओ फोन की रैम कैसे बढ़ाए?  

किसी भी फोन में रैम बढ़ाने का तरीका एक जैसा ही है, लेकिन फिर भी आप इसे बढ़ाने के लिए किसी ऐप की मदद लेना चाहते है तब आप RAM Booster, Smart Booster जैसे स्टोरेज क्लीनर एप्लिकेशन का इस्तेमाल कर सकते है जो काफी हद तक आपकी मदद कर सकता है।

Q. क्या फोन में रैम मायने रखती है?

इस ब्लॉग पोस्ट में पहले भी बताया गया है कि आपके फोन में जितना अधिक रैम होगा, आप उतना ही अधिक एप आप इन्स्टाल कर सकते है साथ ही वह एप्लिकेशन को उतना ही फास्ट एक्सेस भी की जा सकता है। मोबाइल में दो ऐप का एक साथ इस्तेमाल करना बेहतर रैम का एक उदाहरण है।

 

Conclusion

इस लेख में आपने मेरे फोन की रैम कितनी है, किसी भी Android Phone की RAM कैसे Check करें ? के बारें में जाना।आशा करते है, आपको Phone मे RAM कैसे Check करें की पूरी जानकारी जान चुके होंगे।

आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी शेयर करना चाहिए तो इसे Social Media पर सबके साथ इसे अवश्य शेयर करें।

इस लेख संबंधित किसी भी सवाल का जवाब पाने के लिए आप निचे कमेंट कर सकते है जिसका हम जरूर जवाब देंगे | शुरू से अंत तक इस Article को Read करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया, धन्यवाद

Leave a Comment

error: Content is protected !!