Refurbished क्या होता है – Refurbished Meaning in Hindi

Refurbished Meaning in Hindi : जहा Electronic Devices आते है वह Refurbished का नाम सुनाई देता है क्यों की ज्यादातर Electronic devices का ही Refurbished प्रोडक्ट Market में सब से ज्यादा बिकता है

ऐसे में आप के मन में यह सवाल जरूर आता होगा की Refurbished Meaning क्या होता है और Refurbished का मतलब क्या है.इत्यादि

इसीलिए दोस्तों आज के लेख में हम Refurbished Kya hota, Refurbished Phone, Refurbished Laptops के बारे में पूरी जानकारी आप के साथ विस्तार में साझा करने की कोशिश करेंगे

यदि आप भी भी Refurbished के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस लेख को शुरवात से अंत तक जरूर पढ़े क्यों की आज हम Refurbished विषय पर अधिक विस्तार में चर्चा करने वाले है जिसका आप को वर्तमान तथा भविष्य में जरूर फायदा होगा

 

 

Refurbished Meaning in Hindi
Refurbished Meaning in Hindi

 

Refurbished क्या होता है – Refurbished Meaning in Hindi

बहोत से उपभोक्ता का एक सवाल हमेशा रहता है की Refurbished Meaning in hindi क्या होता है ? तो सरल भाषा में कहे तो unboxed Product को Refurbished कहा जाता है

यहाँ बहोत से लोगों के मन में यह गलतफैमी है की Refurbished Meaning सेकेंड हैंड प्रोडक्ट (Second hand) या डैमेज प्रोडक्ट (Damages Product)

क्यों की इंटरनेट पर बहोत से लोगो ने Refurbished को Second hand या Old product के साथ बताया है जो गलत है क्यों की Refurbished में अलग-अलग श्रेणियाँ उपलब्ध है जिसके बारे में आप को पता होना जरूरी है

इसीलिए हम ने निचे Refurbished के बारे में सटीक जानकारी साझा की है जिसे एक जरूर पढ़े

 

Refurbished Meaning in Hindi | Refurbished ka matlab kya hota hai 

Refurbished याने जभी कोई Manufacture, Wholesaler, Retailer किसी Electronic Product का सेल करते है और उस सेल के बाद वे Product किसी कारन Return आता है तो वे विक्रेता उस Return प्रोडक्ट पर Refurbished का tag लगाकर फिर से भेजता है

लेकिन अभी उन प्रोडक्ट के किंमत (प्राइस) में उतार दिखाई देती है क्यों की जभी कोई कस्टमर किसी प्रोडक्ट को Return करता है तब उसमे कोई न कोई प्रॉब्लम जरूर होती है

इसके अलावा यदि कोई कस्टमर प्रोडक्ट New कंडीशन में लेता है और वे उसी प्रोडक्ट को रिटर्न करता है तो उस New प्रोडक्ट की कंडीशन New से Second Hand या Old होती है जिसका सब से अच्छा उदाहरण हम मोबाइल फ़ोन का दे सकते है :

जैसे की यदि आप आज के तारीख में 20 हजार का मोबाइल खरीदते है और उसे दूसरे दिन भेजने के लिए जाते है तो आप को उस मोबाइल के 20 हजार कोई नहीं देगा | भले वे एक दिन पुराना हो लेकिन उसपर Second ऑनर का टैग लग जाता है

 

Opened box Refurbished याने क्या होता है

यदि किसी ग्राहक ने ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट से Phone तथा Laptop आर्डर किया है और उस वेबसाइट के Return policy के अनुसार 10 दिन के अंदर कोई भी ग्राहक उस product को Return कर सकता है तो इस पॉलिसी का इस्तिमाल कस्टमर भरपूर करते है

यदि किसी ग्राहक ने उस 10 दिन के अंदर किसी प्रोडक्ट को Return कर दिया तो उस Phone या Laptop को कस्टमर ने किस कारन वापस किया है इसके बारे में कंपनी पहले जानकारी प्राप्त करती है

ज्यादातर प्रोडक्ट में कोई परेशानी होती है इसीलिए कस्टमर उन प्रोडक्ट को रिटर्न करते है और ऐसे में कंपनी रिटर्न किये प्रोडक्ट की जांच करती है

और जांच के दौरान यदि उस प्रोडक्ट में कोई परेशानी है तो उस परेशानी को रिपेयर कर उस प्रोडक्ट को फिर से बॉक्स में पैक कर रेसलिंग के लिए Launch करती है

लेकिन अभी उस प्रोडक्ट की कंडीशन New नहीं होती है तो उसे Refurbished का Tag लगाकर भेजा जाता है | याने यह प्रोडक्ट पहले नया था लेकिन कस्टमर को जभी प्राप्त हुआ तब उसमे कोई प्रॉब्लम निकली अब यह प्रॉब्लम कुछ भी हो सकती है जैसे :

  1. Transport damage 
  2. defective 
  3. Not Expected 
  4. internal Problem 
  5. Software problem 
  6. Specification problem 
  7. or more 

और इन सभी प्रॉब्लम के वजह से कस्टमर ने प्रोडक्ट वापस किया है लेकिन प्रोडक्ट को चेक करने के लिए कस्टमर को उस Package ( बॉक्स पैकिंग ) को खोलना पड़ा जो कंपनी का था |

और मोबाइल, टीवी, लैपटॉप जैसे बड़े कंपनी का एक रूल होता है की यदि कंपनी की बॉक्स पैकिंग ओपन होती है तो उस प्रोडक्ट को कंपनी स्वीकार नहीं करती है इसीलिए इस प्रोडक्ट का प्राइस कम कर के इन्हे Refurbished के नाम से भेजा जाता है

 

Refurbished Demo | Testing Product क्या होता है

इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट जैसे मोबाइल, लैपटॉप कंपनिया जभी अपने पुराने प्रोडक्ट का नया वर्शन लांच करने की सोचते है तब उस नए प्रोडक्ट के टेस्टिंग मॉडल बनाये जाता है

ताकि उसे ग्राहकों के नज़रिया से देखा जाये और चेक किया जाये तो ऐसे में कंपनिया टेस्टिंग के लिए कहि सारे मॉडल और डिज़ाइन रेडी करते है

और जभी उनके प्रोडक्ट की टेस्टिंग successfully पूरी होती है तो फाइनल प्रोडक्ट कस्टमर के लिए बाजार में लाया जाता है लेकिन जितने भी पुराने प्रोडक्ट और परीक्षण के उद्देश्य से बनाये प्रोडक्ट को भी भेजना लाज़मी होता है

तो ऐसे में कंपनिया इन प्रोडक्ट को ऑक्शन में सेल कर देती है और जभी यह सभी प्रोडक्ट को कंपनी ऑक्शन में सेल करती है तब इन सभी प्रोडक्ट की प्राइस काफी कम होती है

प्रोडक्ट की प्राइस कम और कंडीशन A++ होने के कारन कही सारे डीलर उस ऑक्शन में भाग लेते है और उनमे से जभी कोई एक डालर इस ऑक्शन को जीतता है तो वे इन लैपटॉप या मोबाइल को का टैग लगाकर बाजार में भेजना शुरू करता है

 

Manufacturing Defects Product क्या होता है

जभी किसी नए मॉडल की उत्पादन होती है तब उसे कंपनी के द्वारा बड़े लेवल पर Manufacturing की जाती है | उदाहरण के तौर पर यदि oppo कंपनी अपने नए फोन की Manufacturing कर रही है तो ऐसे में 100 में से 10 फोन Defective या Damage निकलते है

तो इन Defective या Damage फोन के लिए फिर से Manufacturing करना संभव नहीं होता है इसीलिए कंपनिया इन प्रोडक्ट को रिपेयर कर के उसके आधे भाव में भेज देती है

यह आधे भाव में भेजे सभी प्रोडक्ट A++ Refurbished नाम से भेजे जाते है क्यों यह सभी प्रोडक्ट नए होते है फरक बस इतना होता है की इन प्रोडक्ट में कुछ प्रॉब्लम आये होते है जिसे इंजीनियर के द्वारा रिपेयर कर के बाजार में A++ Refurbished के नाम से भेजा जाता है

 

Refurbished Grading क्या होता है

हर प्रोडक्ट का एक standard होता है और उस standard के अनुसार प्रोडक्ट की किंमत तय होती है | और यह सभी standard ज्यादातर इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट में दिखाई देते है जैसे की मोबाइल, लैपटॉप, टेलीविज़न. इत्यादि

स्टैंडर्ड को Grading के नाम से भी जाना जाता है | Grading एक ऐसा शब्द है जिस से ग्राहक को प्रोडक्ट के गुणवत्ता के बारे में जानकारी प्राप्त होती है जैसे इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट में आप को चार Grading दिखाई देंगे जैसे की :

  • NEW :  इस श्रेणी का मतलब नया प्रोडक्ट होता है और बेशक हम सभी को NEW कंडीशन के बारे में पता होता है जो सीधे कंपनी से पैकिंग सहित Warranty के साथ आती है याने यदि भविष्य में इस प्रोडक्ट में कोई भी परेशानी आप को फेस करनी पड़ रही है तो आप इस प्रोडक्ट को फ्री में रिपेयर या रिप्लेस कर के ले सकते है ( टर्म एंड कंडीशन लागु )
  • GRADE – A : इस श्रेणी के प्रोडक्ट Unbox कंडीशन के होते है याने इस प्रोडक्ट में भीतर किसी भी तरह की परेशानी नहीं होती है केवल प्रोडक्ट के बाहरी बाजु कुछ क्रैश वगेरा होता है इसके अलवा प्रोडक्ट की कंडीशन काफी अच्छी होती है
  • GRADE – B : B के प्रोडक्ट A श्रेणी के प्रोडक्ट से ज्यादा समस्यात्मक होते है जैसे की उस प्रोडक्ट की कंडीशन A ++ नहीं होती है लेकिन इस श्रेणी के प्रोडक्ट A कंडीशन के होते है जिसपर कुछ क्रैश वगेरा होते है और इसे देख कर आप एक अंदाजा लगा सकते है की यह प्रोडक्ट न्यू नहीं है
  • GRADE – C : C श्रेणी के इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट उन्हें कहते है जब किसी प्रोडक्ट में काफी प्रॉब्लम होते है और उसकी कंडीशन भी कुछ खास नहीं होती है लेकिन इंजीनियर द्वारा उसे रिपेयर कर नए जैसे बनाया जाता है लेकिन इस प्रोडक्ट पर आप को वारंटी ज्यादा से ज्यादा 30 दिनों की दी जाती है इसीलिए 30 दिनों के बाद इस प्रोडक्ट की जिम्मेदारी विक्रेता नहीं लेता है
  • GRADE – D :  C और D ग्रेड को आप एक ही श्रेणी में रख सकते है क्यों की इन दोनों में कुछ ज्यादा फरक नहीं होता है क्यों की D ग्रेड के प्रोडक्ट भी C ग्रेड की तरह बिना वारंटी के आते है जिसपर विक्रेता आप को किसी भी प्रकार की वारंटी प्रदान नहीं करेगा | D ग्रेड प्रोडक्ट को आप Second hand प्रोडक्ट भी कह सकते है

 

Refurbished प्रोडक्ट की प्राइस रेंज क्या होती है

ज्यादतर उपभोक्ता Refurbished प्रोडक्ट इसीलिए खरीदते है क्यों की Refurbished product की प्राइस नए प्रोडक्ट से कम होती है और इन प्रोडक्ट की कंडीशन भी काफी अच्छी होती है

लेकिन जैसे की हम ने आप को बताया है की सभी Refurbished product की कंडीशन अच्छी नहीं होती है तो उन्हें ग्रेड के अनुसार विभाजित किया गया है जिसके बारे में हम ने उप्पर जानकारी प्रदान की है

और प्राइस की बातें करे तो हर डीलर अपने खरीदी भाव पर 5 % से 10 % मुनाफा निकाल कर अपने ग्राहकों को Refurbished product भेजते है तो इस प्राइस रेंज का हम सटीक अनुभव लगा नहीं सकते है क्यों की हर डीलर अपने अपने अनुसार प्रोडक्ट को बज़ार में भेजता है

हम पिछले 8 सालों से बाजार में Refurbished laptop और Mobile सेल कर रहे है तो हमारे अनुभव के अनुसार हम ने एक कॉमन प्राइस रेंज आप के साथ साझा की है जिसे आप अपने नॉलेज के लिए पढ़ सकते है :

  • GRADE – A = 20% to 25% Discount
  • GRADE – B = 25% to  30% Discount
  • GRADE – C = 30% to 35% Discount
  • GRADE – D :  35% to 40% Discount

 

Refurbished प्रोडक्ट की वारंटी कितनी होती है

प्रोडक्ट प्राइस के बाद हर उपभोक्ता प्रोडक्ट के वारंटी पर ध्यान देता है क्यों की वारंटी एक ऐसी पॉलिसी होती है जिसके मदत से हम कंपनी के और से दिए वारंटी के अंतर्गत फ्री में इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट को रिपेयर या रिप्लेस कर के ले सकते है

ज्यादातर Refurbished प्रोडक्ट की वारंटी 6 महीनो की होती है लकिन यह वारंटी भी प्रोडक्ट के ग्रेड के अनुसार बाटे गए है जैसे की :

  • NEW= 12 Month
  • GRADE – A = 6 Month
  • GRADE – B = 3 Month
  • GRADE – C = 1 Month
  • GRADE – D =  10 to 15  Days

Refurbished प्रोडक्ट ऊपर दिए सभी वारंटी के अंतर्गत उपलब्ध होते है इसीसलिए आप डीलर से बात कर अपने लिए बेहतर वारंटी वाला प्रोडक्ट सेलेक्ट कर सकते है

 

Refurbished प्रोडक्ट के फायदे

यदि हम Refurbished प्रोडक्ट के फायदों की बातें करे तो सब से पहले इन प्रोडक्ट की प्राइस हमे आकर्षित करती है क्यों की Refurbished प्रोडक्ट हमे 20 % से 40% डिस्काउंट के साथ मिलती है

इसके अलवा इन प्रोडक्ट की कंडीशन ग्रेड के अनुसार काफी अच्छे होते है तो वही अगर कुछ छोटा मोटा रिपेयरिंग होता है तो उसे भी फिक्स कर हमे प्रदान किया जाता है

  1. Refurbished प्रोडक्ट की प्राइस नए प्रोडक्ट से काफी कम होती है
  2. Refurbished प्रोडक्ट गुड कंडीशन के साथ बॉक्स पैकिंग भी होते है (कंडीशन लागु)
  3. Refurbished प्रोडक्ट पर एक सिमित और आकर्षित वारंटी भी प्रदान की जाती है
  4. Refurbished प्रोडक्ट को आप सस्ते किंमत में लेकर उसे बाजार में अच्छे किंमत में भेज सकते है और मुनाफा कमा सकते है

 

Refurbished प्रोडक्ट के नुकसान

यदि आप को बजट ज्यादा नहीं है और एक कम बजट में अच्छा इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट आप खरीदना चाहते है तो हमारे अनुसार Refurbished प्रोडक्ट को खरीदने में कोई परेशानी नहीं है

लेकिन अगर आप हमे पर्सनली पूछते है की Refurbished के नुकसान क्या है तो हमारे अनुसार जो नुकसान है ! उन्हें निचे पॉइंट के रूप में साझा किये है जिसे आप पढ़ सकते है

  1. Refurbished प्रोडक्ट को रिपेयर कर भेजा जाता है इसीलिए रिपेयर किया पार्ट कबतक चलेगा उसका हमे कोई अंदाजा नहीं होता है
  2. रिपेरिंग के दौरान Refurbished प्रोडक्ट के अंतर्गत पार्ट को चेंज भी किया जाता है जिसके बारे में हमे पता नहीं चलता है और कुछ दिनों के बाद उस पार्ट में प्रॉब्लम आना शुरू होता ही तो शायद यह एक बड़ा नुकसान है
  3. कही सारे डीलर सेकंड हैंड प्रोडक्ट पर लगे बॉडी और पैकिंग को चेंज कर उसे सामने ग्राहक को Refurbished प्रोडक्ट के नाम से सेल करते है जिसके बारे में कही सारे लोगों को पता नहीं होता है

 

Refurbished v/s Second hand Meaning in Hindi

Refurbished  Second hand
इन प्रोडक्ट की कंडीशन न्यू (नए) प्रोडक्ट के तरह होती है इन प्रोडक्ट की कंडीशन पुरानी होती है जिसे देखते ही हमे कंडीशन के बारे में पता चलता है
यह प्रोडक्ट ग्रेड के अनुसार आप को मिल सकते है जिसमे A + और Good कंडीशन उपलब्ध होते है इन प्रोडक्ट में कोई ग्रेड नहीं होता है इसमें मिला तो अच्छा प्रोडक्ट भी मिल सकता है वरना सालों पुराना प्रोडक्ट भी लेना पड़ सकता है
इन प्रोडक्ट में आप को 1 साल से 3 महीनो की वारंटी मिल सकती है इन प्रोडक्ट में आप को ज्यादा से ज्यादा 10 दिन की टेस्टिंग वारंटी प्राप्त होती है तो कुछ जगह आप को बिलकुल भी वारंटी नहीं मिलेगी
इस तरह के प्रोडक्ट आप को ज्यादातर डीलर या रिपेयरिंग के शॉप से प्राप्त होंगे इस तरह के प्रोडक्ट आप डायरेक्ट कस्टमर से भी खरीद सकते है
इन प्रोडक्ट में ख़राब होने के चांचेस कम होते है इन प्रोडक्ट में ख़राब होने के चांचेस ज्यादा होते है
इन प्रोडक्ट की किंमत सेकंड हैंड से ज्यादा होती है लेकिन कंडीशन अच्छी होती है इन प्रोडक्ट की किंमत Refurbished से कम होती है लेकिन कंडीशन अच्छी नहीं होती है
यह प्रोडक्ट आप ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीद सकते है इन प्रोडक्ट को भी आप ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीद सकते है

 

वास्तविक सुझाव ( Suggestion )

यदि आप बाजार में इलक्ट्रोनिक प्रोडक्ट जैसे की : लैपटॉप, मोबाइल, टीवी खरीदने जा रहे है तो आप के सामने 3 विकल्प उपलब्ध है जैसे की New, Refurbished , Second hand और इन तीनो के बारे में हम आप को विस्तार में जानकारी प्रदान की है

लेकिन यदि आप हमारे सुजाव भी लेना चाहते है तो बेशक हम NEW प्रोडक्ट को पहली प्राथमिकता देंगे लेकिन यदि New प्रोडक्ट और Refurbished में ज्यादा अमाउंट का डिफ्रेंट है जैसे की :

New : 10 हजार और Refurbished : 7 हजार तो बेशक आप Refurbished प्रोडक्ट 6 महीने के वारंटी के साथ खरीद सकते है लेकिन अगर New प्रोडक्ट और Refurbished में 1 या 2 हजार का डिफ्रेंट है तो बेशक आप को New प्रोडक्ट खरीदना उचित रहेगा

और सेकंड हैंड प्रोडक्ट का सुजाव हम इसीलिए नहीं देते है क्यों की Second hand प्रोडक्ट की कोई वारंटी नहीं होती है याने || चले तो चाँद तक वरना रात तक || और ऐसे में केवल किंमत देखते अगर आप कोई Low budget प्रोडक्ट खरीदते है तो भविष्य में उस प्रोडक्ट के ख़राब होने के चांचेस ज्यादा होते है

इसीलिए हमेशा कोई इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट खरीदने के पहले यदि आप का बजट कम है New और Refurbished प्रोडक्ट में तुलना करे और उसमे यदि आप का New के लिए बजेट नहीं है तो Refurbished प्रोडक्ट को खरीद लीजिये

 

conclusion

आज हम ने Refurbished क्या होता है – Refurbished Meaning in Hindi जैसे अत्यंत महत्वपूर्ण विषय पर चर्चा की है और उम्मीद करते है की आप को यह लेख पसंत आया होगा |

यदि आप भविष्य में Refurbished लैपटॉप या Refurbished मोबाइल खरीदना चाहते है और कंफ्यूज हो तो आप निचे कमेंट कर सकते है हम उसके लिए आप को सही सुजाव देने की पूरी कोशिश करेंगे | इस लेख को शुरवात से अंत तक पढ़ने के लिए शुक्रिया

6 thoughts on “Refurbished क्या होता है – Refurbished Meaning in Hindi”

Leave a Comment

error: Content is protected !!