लैपटॉप या कंप्यूटर को कैसे सुरक्षित रखें। Best laptop care tips in Hindi

वर्तमान समय में टेक्नोलॉजी ने काफी ज्यादा विकास कर लिया है और अब ज्यादातर लोग टेक्नोलॉजी के सारे ही अपने कार्य को करते हैं और इतना ही नहीं डिजिटल क्षेत्र में भी टेक्नोलॉजी के आने से बहुत बढ़ावा हुआ है।

डिजिटलीकरण होने से अब लगभग सभी प्रकार के कार्य ऑनलाइन तरीके से किए जा रहे हैं, फिर चाहे वह सरकारी हो या फिर गैर सरकारी। सभी प्रकार के कार्यों को करने में ज्यादा लोग कंप्यूटर ऑफिस लैपटॉप का सहारा ले रहे हैं।

लगभग आज के समय में हर एक व्यक्ति के पास आपको लैपटॉप या कंप्यूटर देखने को मिल जाएगा परंतु दोस्तों हमें अपने लैपटॉप और कंप्यूटर को सुरक्षित रखना चाहिए

और तभी आपका और आपके लैपटॉप का साथ लंबे समय तक बना रहेगा । आज के इस लेख में हम आप सभी लोगों को लैपटॉप को कैसे सुरक्षित रखें (How to protect laptop in hindi) या फिर लैपटॉप का रखरखाव कैसे करें (laptop ka care kaise karen) इस विषय पर विस्तार से जानकारी प्रदान करने वाले हैं।

लैपटॉप या कंप्यूटर को कैसे सुरक्षित रखें। Best laptop care tips in Hindi

लैपटॉप का ध्यान रखने का तरीका ? (Best laptop care tips in Hindi)

लैपटॉप और कंप्यूटर बहुत ही ज्यादा कॉस्टली होते हैं और एक बार खरीदने पर हम इन्हें ज्यादा लंबे समय तक इस्तेमाल करना चाहते हैं और चाहते हैं कि हमारा लैपटॉप बिना किसी समस्या के कम से कम 4 से 5 साल तक आसानी से चल जाए।

अगर आप अपने लैपटॉप का ध्यान नहीं रखेंगे, तो वह जल्दी खराब हो जाएगा।अगर आप अपने लैपटॉप या पीसी को सुरक्षित रखना चाहते हैं, तो आपको कुछ विशेष बातों पर ध्यान रखना होगा

और तभी आपका लैपटॉप एक लंबे समय तक चलेगा। हमने देखा है, कि वर्तमान समय में लोग इंटरनेट पर लैपटॉप को कैसे सुरक्षित रखें (laptop ko kaise safe rakhen) ?

इस विषय पर जानकारी के पास करते हैं और आज आपको इस लेख में इसी पर विस्तार से जानकारी प्राप्त होगी। चलिए आगे लैपटॉप को सुरक्षित रखने के कुछ टिप्स के बारे में जानकारी को पढ़ते हैं।

 

लैपटॉप में करें एंटीवायरस का इस्तेमाल :-

ज्यादातर हम इंटरनेट से कनेक्ट होकर ही अपने किसी भी प्रकार के कार्य को लैपटॉप या पीसी के जरिए करते हैं। इंटरनेट पर अधिक सर्विंग करने पर हमारे लैपटॉप या कंप्यूटर में वायरस जाने की काफी ज्यादा संभावनाएं होती है

जब किसी भी प्रकार का वायरस हमारे कंप्यूटर या लैपटॉप में चला जाता है, तो यह हमारे लैपटॉप के सॉफ्टवेयर यहां तक की हार्ड डिस्क को भी इंक्रिप्ट कर सकता है।

इसीलिए अगर आप ज्यादातर अपना कार्य इंटरनेट पर कलेक्टर होकर लैपटॉप के जरिए करते हैं, तो आप सर्वप्रथम अपने कंप्यूटर में एंटीवायरस को इंस्टॉल करें।

एंटीवायरस का इस्तेमाल करने पर लैपटॉप और कंप्यूटर वर्ष के खतरे से सुरक्षित रहता है और लैपटॉप की उम्र भी काफी समय तक बढ़ जाती है।

 

ओवर चार्जिंग ना करें :-

ज्यादातर लैपटॉप की बैटरी फुल होने पर भी हम लैपटॉप को चार्ज लगाकर ही काम करते हैं और लैपटॉप अत्यधिक समय तक चार्जिंग में लगे रहने से हिट होने लगता है

और इसकी बैटरी में भी इसका सीधा असर धीरे-धीरे दिखाई देने लगता है। जब तक हमारे लैपटॉप की बैटरी 50% से कम ना हो तब तक हमें इसे चार्ज नहीं करना चाहिए और इसका यह मतलब नहीं है, कि एकदम बैटरी डेड होने तक इसका इस्तेमाल करें।

इसीलिए जब आप देखें कि बैटरी आपकी 50% कम हो गई है, तब इसे तुरंत चार्जिंग पर लगाएं और इससे फुल चार्ज होने तक चार्ज करते रहें।

इसके अतिरिक्त हमें बैटरी फुल हो जाने के बाद ऐसे ही चार्जिंग पर लैपटॉप को ना छोड़े और तुरंत ही इसे अनप्लग करें।

 

काम होने के बाद करें शट डाउन :-

ज्यादातर हमने देखा है, कि लोग अपने काम को करने के बाद लैपटॉप को शट डाउन नहीं करते हैं

और वे अपने लैपटॉप को स्लीपिंग मोड में या सिर्फ ऑन स्थिति में ही छोड़ देते है इसे ऐसे ही नहीं छोड़े। लैपटॉप को स्लीपिंग मोड में रखना सुविधाजनक होता है, परंतु लंबे समय तक इस सिचुएशन में लैपटॉप को रखना बिल्कुल भी सही नहीं है।

लैपटॉप को ऐसे ही छोड़ने पर बिजली की खपत भी होती है और साथ ही में लैपटॉप की बैटरी के साथ-साथ लैपटॉप के पावर सिस्टम पर भी इसका गहरा असर होता है।

इसीलिए जब लैपटॉप पर हम कार्य ना कर रहे हो या फिर कार्य खत्म हो गया हो तो इसे तुरंत ही शट डाउन कर दें और फिर आवश्यकता पड़ने पर यह ऑन करें।

 

पावर बटन पर जरिया लैपटॉप को ना करें सीधे बंद :-

अक्सर हम लैपटॉप पर काम खत्म करने के बाद जल्दी-जल्दी में इसे पावर बटन के जरिए ही बंद कर देते हैं और यह लैपटॉप पर सीधा बुरा असर डालता है।

पावर बटन का इस्तेमाल करके लैपटॉप को बंद करने पर यह पूरी तरीके से अपने सिस्टम को सावधान नहीं कर पाता है और लैपटॉप शटडाउन मोड में होते होते अनेकों प्रकार के चल रहे टास्क को ठीक से शट डाउन नहीं कर पाता।

इसीलिए जब लैपटॉप पर काम करना बंद करें तब हमें इसे आराम से विंडो बटन के जरिए शटडाउन करें और यह इस प्रकार से धीरे-धीरे अपने सारे टास्क और सिस्टम को बंद करता है और फिर अंतिम में लैपटॉप पूरी तरीके से बंद हो जाता है।

 

समय-समय पर ऑपरेटिंग सिस्टम को करें अपडेट :-

अगर आप चाहते हैं कि आपके लैपटॉप में चल रहे ऑपरेटिंग सिस्टम में किसी भी प्रकार की समस्या ना हो और आपका सिस्टम ऐसे ही बिना किसी रूकावट के चलता रहे तो दोस्तों ऑपरेटिंग सिस्टम का हमेशा नया नया अपडेट आता रहता है

और यह अपडेट आपके सिस्टम के साथ-साथ आपके लैपटॉप के सिक्योरिटी के लिए भी आवश्यक होता है। सिस्टम को अपडेट करने पर छोटे-छोटे बग्स और जोखिम कम हो जाते हैं

और आप बिना किसी समस्या के लैपटॉप का इस्तेमाल कर पाते हैं। इसके अतिरिक्त ऑपरेटिंग सिस्टम में सिक्योरिटी फीचर्स भी ऑपरेटिंग सिस्टम के अपडेट होने पर हो जाते हैं।

 

स्टोरेज को रखे फ्री :-

लैपटॉप या कंप्यूटर खरीदने के पश्चात हमें इसके स्टोरेज पर भी विशेष रूप से ध्यान देना चाहिए। जब हम लैपटॉप को नया खरीद कर लाते हैं, तब उसमें पार्टीशन नहीं बना होता है।

ज्यादातर सी ड्राइव के पार्टीशन में ही ऑपरेटिंग सिस्टम के सॉफ्टवेयर और अन्य लैपटॉप ड्राइवर्स कार्य करते हैं और इसीलिए हमें सी ड्राइव को फ्री रखना चाहिए

और अपने अन्य डाक्यूमेंट्स या अन्य चीजों के स्टोरेज के लिए अलग-अलग अपने क्वेरी के हिसाब से पार्टीशन क्रिएट करना चाहिए।

अगर हम अपने स्वीट लाइफ में ही सारे डाक्यूमेंट्स और अन्य चीजों को स्टोर करेंगे, तो हमारा पीसी धीरे-धीरे हैंग करने लगेगा और अंतिम में हार्ड डिक्स की प्रॉब्लम हो जाएगी।

इसीलिए हमें अपने पीसी में या लैपटॉप में पार्टीशन क्रिएट करना चाहिए और अपने सी ड्राइव के स्टोरेज को फ्री रखना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : हार्ड डिस्क क्या है ?

 

धूल मिट्टी के जगह पर ना करें इस्तेमाल :-

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं, लैपटॉप बिल्कुल ही कंफर्टेबल होता है और इसे किसी भी जगह पर आसानी से रख के इस्तेमाल किया जा सकता है।

मगर दोस्तों हमें अपने लैपटॉप को धूल मिट्टी की जगह पर इस्तेमाल नहीं करना चाहिए और हमें एक स्वच्छ स्थान पर ही इसे रखकर इस्तेमाल करना चाहिए।

धूल मिट्टी की जगह पर इस्तेमाल करने पर इसके अंदर डस्ट चले जाते हैं और इसके कई सारे पार्ट्स डस्ट के वजह से खराब भी हो सकते हैं।

 

लैपटॉप को कैरी करने के दौरान सही बैग का करें इस्तेमाल :-

अक्सर हम अपने लैपटॉप को अपनी आवश्यकता के अनुसार कहीं पर भी ले जाते हैं और उसका जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल करते हैं।

लैपटॉप को कैरी करने के दौरान हमें एक मजबूत और लैपटॉप को पूरी तरीके से सुरक्षा प्रदान करने वाले बैग का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

आज बाजार में स्पेशली लैपटॉप को कैरी करने के लिए बैग बनाए गए हैं और उसमें लैपटॉप को रखकर कहीं पर भी आसानी से ले जाया जा सकता है।

अगर हम किसी भी बैग का इस्तेमाल लैपटॉप को कैरी करने के लिए करेंगे, तो लैपटॉप में धक्का लगने चांसेस अधिक होता है इसके अलवा कहीं पर भी बैग ड्रॉप हो जाने पर आपका लैपटॉप डिस्ट्रॉय हो सकता है।

 

लैपटॉप को रखने के लिए करें ठंडे स्थान का इस्तेमाल :-

लैपटॉप को हमें नमी वाले स्थान पर नहीं रखना चाहिए और ना ही अत्यधिक गर्मी वाले स्थान पर इसे रखना चाहिए। नमी वाले स्थान पर लैपटॉप को रखने पर इसमें नमी चली जाएगी और इसके इलेक्ट्रॉनिक्स पार्ट को यह डैमेज कर सकता है,

यहां तक की नमी की वजह से आपके लैपटॉप में स्पार्क भी होगा और हो सकता है, कि आपका लैपटॉप नमी की वजह से शॉट भी हो जाए इसीलिए हमें लैपटॉप को ठंडे स्थान पर रखना चाहिए और जहां पर नमी ना हो उस स्थान का भी इस्तेमाल रखने के लिए आप कर सकते हैं।

 

पब्लिक वाईफाई का इस्तेमाल ना करें :-

हमें लैपटॉप को कभी भी पब्लिक के वाईफाई से कनेक्ट नहीं करना चाहिए। पब्लिक वाईफाई से कनेक्ट करने पर हमारे लैपटॉप में कई सारे लोग वायरस भेज सकते हैं

या फिर पब्लिक वाईफाई से लैपटॉप का एक भी किया जा सकता है। इसीलिए इन समस्याओं से बचने के लिए कभी भी लैपटॉप का पब्लिक वाईफाई से कनेक्ट ना करें।

 

डाटा बैकअप रखें :-

आज के समय में हम ज्यादातर अपने आवश्यक दस्तावेजों को अपने लैपटॉप या पीसी में सुरक्षित रखते हैं। ऐसे में लैपटॉप कभी भी क्रश हो सकता है,

या फिर आपका हार्ड डिक्स से इंक्रिप्ट हो सकता है। अगर आपके साथ ऐसा कुछ हुआ तो आपका बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है और इसीलिए आपको अपने डाटा का टाइम टू टाइम बैकअप लेना चाहिए और इसके लिए आप एक्सटर्नल हार्ड डिक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

निष्कर्ष :-
आज के इस महत्वपूर्ण लेख में हमने आप सभी लोगों को लैपटॉप का ध्यान कैसे रखें और लैपटॉप को सुरक्षित रखने के बेस्ट टिप्स कौन-कौन से हैं

इस विषय पर आपको एक अच्छी जानकारी प्रदान करने का पूरा प्रयास किया है। यदि इसलिए से संबंधित अगर आपको कोई सवाल या सुझाव है, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here