e-SIM क्या है और e-SIM Fraud से कैसे बचें पूरी जानकारी

eSIM fraud क्या है और इससे कैसे बचें : मार्केट में तरह-तरह के नई Fraud करने के तरीके आते रहते है, जिसे cyber crime के नाम से भी जानते है, उसी में अब scammer e-SIM के नाम पर लोगों के साथ Scamming कर लाखों तक का Fraud मिनटो में कर लेते है।

इस आर्टिकल में हम आपको e-SIM क्या है और e-SIM fraud से कैसे बचें के बारें में विस्तार से बताने वालें है। आप भी ऐसी cyber criminal से alert रहकर खुद के साथ fraud होने से बचाना चाहते है तो आपको e-SIM fraud के बारें में अवश्य जानना चाहिए,

क्योंकि अभी यह एक नये तरह का Cyber crime है, जिसके बारें में अधिक लोगों को पता नही होता है

और वह scammer के साथ e-SIM fraud का शिकार हो जाते है। अधितर लोग अभी तक e-SIM के बारें में भली-भांति प्रचीत भी नही हुये है, इसलिए हम आपको Basic से e-SIM fraud को इस आर्टिकल में cover करने वालें है।

 

e-SIM क्या है और e-SIM Fraud से कैसे बचें पूरी जानकारी
e-SIM क्या है और e-SIM Fraud से कैसे बचें ?

 

e-SIM क्या है और e-SIM Fraud से कैसे बचें पूरी जानकारी

 

SIM क्या है | what is SIM in hindi

SIM का पूरा नाम Subscriber Identity Module होती है। इसका काम एक network को दूसरे network के साथ connect कर दो लोगों के बीच में mobile phone के जरिये communicate करना होता है।

हर SIM का अलग-अलग identity number और ग्राहक की जानकारी Store किया हुआ रहता है। जिससे Mobile tower के जरिये दूसरे SIM number पर communication का काम पूरा हो पाता है।

 

SIM का प्रकार | types of SIM

मुख्यतः Mobile SIM को दो भागों में रखा गयाहै:-

  • Physical SIM
  • Virtual e-SIM

हम लोग Physical SIM से भली-भांति प्रचीत है, जिसे हम अपने Mobile में लगाकर Calling, Internet, SMS इत्यादि जैसी facility का लाभ ले पाते है,

लेकिन Technology से आगे बढ़कर SIM को Virtualized कर दिया है, जिसमें Physical SIM के बिना ही यह सब facility का लाभ लिया जा सकता है।

शुरू से देखा जाये तो हम लोगों को सबसे पहली बार एक SIM के रूप में Mini SIM card उसके बाद Micro SIM card और फिर Nano SIM card और latest technology based में e-SIM card की facility हमें दी जा रही है।

 

e-SIM क्या है और e-SIM Fraud से कैसे बचें पूरी जानकारी
e-SIM क्या है और e-SIM Fraud से कैसे बचें पूरी जानकारी

 

e-SIM क्या है | what is eSIM in hindi

यह एक ऐसी SIM Card होती है, जो Virtual के रूप में वर्क करती है, जिसे हम देख नही सकते है, जो पूरी तरह से embedded-SIM होती है।

इसे किसी software/Application की तरह बस अपने मोबाइल में install करना होता है और यह सब करने के बाद वह सभी facility provide करवाती है, जो एक physical SIM card देती है।

भारत में eSIM का concept कुछ साल पहले ही आया है और फिलहाल ऐसी service Airtel, VI जैसी ही telecom companies provide करवाती है।

आने वालें दिनों में हर network provider eSIM की सुविधा अपने ग्राहक को देने वाली है।

फिलहाल देखा जाये तो eSIM हर Mobile को support नही करता है, कुछ चुनिंदा ही ऐसी Smartphone’s है जो e-SIM को support करती है जैसे:-

  • Apple iPhone 11
  • iPhone 11 Pro
  • iPhone 11 Pro Max
  • iPhone SE
  • iPhone Xs
  • iPhone Xs Max
  • iPhone Xr
  • iPhone 12 Mini
  • iPhone 12
  • iPhone 12 Pro
  • & iPhone 12 Pro Max
  • Motorola razr
  • Samsung Galaxy Z Flip
  • Note 20
  • Note 20 Ultra
  • and Samsung Galaxy Fold 2
  • Google Pixel 3A onwards

 

आपका भी Smartphone इनमे से किसी Model और  Brand का है तो वह eSIM को support करेगा। आने वालें कुछ सालों में budget Smartphone में भी eSIM support की facility देखने को मिल जाएगी।

अब तक तो आप eSIM के बारें में अच्छी तरीके से समझ चुके होंगे, अब हम आपको eSIM fraud के बारें में विस्तार से बताने जा रहें है कि इसके जरिये आपके साथ fraud कैसे हो सकता है

और इससे आपको किस तरीके से बचना चाहिए। उससे पहले हम आपको e-SIM activation process के बारें में बताते है, जिससे आपको eSIM scam को समझने में आसानी होगी।

 

eSIM activation process in hindi

eSIM active कैसे करें जैसे किसी को अपने Physical SIM card को e-SIM में convert करवाना है और वह Airtel network provider का SIM इस्तेमाल पहले से करता आ रहा है तो उसको eSIM में Moved करने के लिए वह इस process को follow करेगा:-

 1  सबसे पहले मोबाइल के inbox में जाकर eSIM type करें।

 2  उसके बाद space देकर अपना Airtel में पहले से email ID type करें।

 3  सबसे अंतिम में इस Message को 121 पर send कर देनी है।

 4  उसके बाद Airtel email ID conformation करने के लिए 1 reply करने के लिए बोलेगा।

 5  फिर उसके बाद आपने जिस Airtel number से 121 पर eSIM का request किया था, उसका QR code आपके दिये हुये email ID पर send कर दिया जाता है।

 6  बस आपको अपने mobile की settings > Mobile Network > Add Data Plan > Scan QR code यहाँ पर आपके ईमेल आईडी पर आये हुये QR code को आपको download करके आपको scan करना है।

 

e-SIM Kya hai

 

 7  बस यह सब करने के बाद आपके मोबाइल में यह eSIM activate हो जायेगी और सारी physical SIM card जैसी facility work करने लग जायेगी।

 8  यहाँ तक तो आप समझ चुके होंगे कि eSIM active कैसे होता है। अब आपके साथ इसी स्टेप्स में eSIM fraud हो जाती है

और आपको भनक तक नही लगती है। तो अब हम जानते है कि आपके साथ eSIM fraud करके scamming के जरिये आपके banks से सारे पैसे कैसे windrow कर लिए जाते है।

 

e-SIM frauds क्या है | what is e-SIM fraud in hindi

यह एक ऐसी cyber crime है, जिसमें scammer लोगों को eSIM network provider के रूप में call कर इसे activate करने के लिए कहता है और उससे उसी बीच उनके साथ Scam कर लेता है, जिसे eSIM fraud के नाम से जानते है।

हमने आपको शुरू में ही बताया था कि भारत में अभी भी अधिकतर मोबाइल उपयोगकर्ता e-SIM से पूरी तरह से प्रचीत नही है और उनकी इसी नासमझ के कारण उनके साथ fraud हो सकता है  इसे हम लोग एक उदाहरण के जरिये समझते है:-

राम और श्याम दो लोग है, राम एक मोबाइल उपयोगकर्ता है और उसने ऐसी नई मोबाइल लिया है जो eSIM को support करता है और वह eSIM का इस्तेमाल करना चाहता है, लेकिन उसे इसके बारें में नही पता कि eSIM को activate कैसे करें

e-SIM frauds

 

श्याम को eSIM के बारें में पूरी जानकारी पता है और वह अपने इस cyber hacking knowledge का इस्तेमाल करके लोगों के साथ eSIM के नाम पर fraud/scamming करता है।

तो श्याम को कही से पता चल गया कि राम जो मोबाइल नंबर इस्तेमाल करता है वह इसके bank account/ social account इत्यादि में रजिस्टर है।

तो अब श्याम राम को फोन करेगा और उससे बोलेगा कि “सर मैं एयरटेल नेटवर्क प्रोवाइडर से कॉल कर रहा हूँ और हम आपको Virtual SIM eSIM start करने की facilities free में provide करवा रहें है

क्योंकि हमने अपने System में Notice किया है कि आप जो Mobile इस्तेमाल करते है वह eSIM को support करता है।

अब राम Exited होकर इस नये तकनीक से बने eSIM को इस्तेमाल करना चाहता है और श्याम से इसे activate करने का process पूछता है

अब श्याम उसे कहता है कि अपने मोबाइल के inbox में जाकर eSIM space और इस airtel ईमेल आईडी को type करके इस 121 नंबर पर send कर conformation के लिए 1 reply कर दें।“

अब ध्यान देने वाली बात यह है कि scammer ने राम का email ID type करने के बजाय अपना बनाया हुआ unique email ID को सेंड करने के लिए बोल रहा है।

बस यही से eSIM fraud हो जाती है। scammer के पास ऐसी email ID होती है, जिससे लोगों को इसका भनक तक नही लगती है जैसे:-

जब राम scammer के द्वारा बताये गए email ID को send कर देता है और eSIM email ID conformation के लिए 1 press कर भी देता है तब राम के मोबाइल नंबर का access उस श्याम scammer के पास हो जाती है, क्योंकि राम ने यह कन्फ़र्म किया है कि यह email ID उसी का है।

अब Airtel उसके मोबाइल नंबर को eSIM में convert करके उसका QR code उस श्याम scammer के email ID पर सेंड कर देता है

और श्याम के पास already एक ऐसी मोबाइल होती है जो eSIM को support करती है अब बस वह इसे अपने मोबाइल में scan कर इसे active कर लेता है।

राम ने अपने मोबाइल में जो physical SIM card लगा रखा है वह eSIM active होने के बाद वह deactivate हो जाएगी।

अब श्याम के bank account/ social media account का क्या होगा, क्योंकि उसका सारा access श्याम scammer के पास eSIM मोबाइल नंबर के जरिये जा चुकी है।

राम को भनक भी नही लगेगी और वह श्याम उसके बैंक से सारे पैसे कुछ ही मिनट में निकाल लेगा और उसके साथ लाखों का fraud कुछ ही मिनट में कर देगा।

तो देखा आपने eSIM fraud किस तरह से होती है और इसे कितनी मासूमियत से कर लिया जाता है। आप भी ऐसी eSIM fraud/scamming से बचना चाहते है तो हम आपके साथ कुछ ऐसी tips share करने जा रहें है, जिसे आप अपने साथ इस्तेमाल करके e-SIM fraud होने से खुद को बचा सकते है।

 

eSIM frauds से कैसे बचें | How to avoid eSIM fraud in hindi

नए तरीके से किया जाने वाला cyber crime e-SIM fraud से बचने के लिए निम्नलिखित चीजों पर ध्यान देना चाहिए:-

  1. आपको जब भी लगें अब हमें eSIM activate करवानी है तो अपने नजदीकी Network provider store पर visit करें या ऊपर में बताये गए सही eSIM active process को ही फॉलो करें।
  2. आपके मोबाइल नंबर का eSIM QR code है , उसे किसी के साथ share नही करें।
  3. ऐसे Spam calls से सावधान रहें, जो eSIM active करने के लिए कहता है।
  4. जब आपको कोई spam call करके eSIM एक्टिव नही करने पर नंबर बंद करने जैसी बात करता है तो उसे रिपोर्ट करें, क्योंकि कोई भी Network provider आपका SIM direct close नही करता है और ना ही वह ऐसे calls करता है।
  5. eSIM activate करने के लिए Request तब ही करें, जब आपके पास इसे सपोर्ट करने वाला Smartphone हो, otherwise इसका कोई काम नही है।

 

अंतिम शब्द

आपने इस आर्टिकल में eSIM क्या होता है और eSIM fraud क्या होता है और इससे कैसे बचा जा सकता है के बारें में जाना। आशा करता हूँ आपको eSIM activation process in hindi के बारें में पूरी जानकारी प्राप्त हो गई होगी।

आपको लगता है कि यह आर्टिकल दूसरे के साथ भी Share करना चाहिए तो इसे Social Media पर सबके साथ Share अवश्य करें। शुरू से अंत तक इस Article को Read करने के लिए आपका तहेदिल से शुक्रिया…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here