NGO full form | NGO ka full form kya hai

NGO full form | NGO ka full form kya hai : अक्सर हमें NGO शब्द सुनने को मिलता है, लेकिन बहुत सारें लोगों को इसके बारें में पता भी नही होती है,

आपकी जानकारी के लिए बता दूँ, NGO का full form Non-Governmental Organization होती है, जिसे हिंदी में गैरसरकारी संगठन कहते है।

यह एक ऐसी संगठन होती है, जिससे सरकार और इसके संचालक को कोई फायदा नही होता है, मानवता के उद्देश्य से भारत सहित दुनियाभर में लाखों NGO को चलाई जाती है,

जिसका मुख्य उद्देश्य गरीब, बेसहरा व्यक्ति को बेहतर खाना, आवास और कपड़ा  देना होता है।

जब देश संकटों से घीरा हुआ रहता है और सरकार को सबसे अधिक गरीब लोगों की चिंता सताती है, उस वक्त NGO ही एक ऐसी संस्था होती है

जो बिना अपना प्रॉफिट देखें ही ऐसे लोगों का मदद करने को आती है जो खुद दुसरें पर हर दिन आश्रित होती है।

 

NGO full form | NGO ka full form kya hai

 

NGO full form in Hindi | एनजीओ का फुल फॉर्म क्या है

NGO full form – Non-Governmental Organization होता है, जिसे हिंदी में गैरसरकारी संगठन कहते है

यानि जिस पर सरकार का कोई अधिकार नही हो उसे गैरसरकारी संगठन साथ ही अशासकीय संस्था भी कहते है, इसी तरह NGO पर सरकार का नही, बल्कि किसी एक व्यक्ति विशेष का अधिकार प्राप्त होती है।

 N : Non (गैर)

 G :  Governmental (सरकारी)

 O : Organization (संगठन)

 

NGO क्या है | what is NGO in hindi

यह एक ऐसी संस्था होती है जो गरीब, आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्ति और अनाथ बच्चें को मुफ्त में खाना, रहने को आवास, कपड़ा और शिक्षा देने का काम करती है। साथ ही उनकी जो भी जरुरी की चीजें होती है, उसे एनजीओ मुफ्त में देती है।

दुनियाभर में लाखों की संख्या में ऐसी संस्था है जो बेसहारा लोगों को भगवान के रूप में काम करती है। जब किसी क्षेत्र में बाढ़ और अमानवीय घटना हो जाती है तब अलग-अलग तरह की एनजीओ संस्था आगे आती है और उन सभी लोगों की मदद करती है।

मानवता को देखते हुए, वह पशु, पक्षी, पर्यावरण इत्यादि को मदद करने का भी बीड़ा अपने पर उठाते है। इनका मुख्य मकसद ऐसी लोगों की मदद करना होता है,

जिन्हें सच में मदद की जरुरत हो। इस तरह की संस्था को ज्यादातर व्यावसायिक संस्थानों द्वारा चलाई जाती है।

साथ ही ऐसे बहुत सारें आम आदमी है जो अपने हिसाब से किसी NGO या ऐसे ही लोगों की मदद करने के लिए आगे आते है और उनसे जो भी मदद हो पाती है वह मनुष्यता के रूप में करते है। इस तरह की संगठन को कोई भी व्यक्ति चला सकता है

इसके लिए वह स्वतंत्र होती है और सरकार भी इसमें कोई हस्तक्षेप नही करती है। सेवाभाव और मानवता लोगों में इतना अधिक है कि भारत में number of NGO in India पुरे 3 लाख है तो वही दुनिया के सबसे ज्यादा आबादी वाला देश चीन में 4 लाख 40 हजार और दुनिया पर राज करने वाली देश अमेरिका में इसकी संख्या 15 लाख तक की है।

 

एनजीओ का प्रकार | Types of NGO in hindi

एनजीओं भी कई प्रकार की होती है, जो निम्नलिखित है :-

  • GONGO: government-organized non-Governmental organization (इस तरह की गैर संस्था को बिज़नस मैंन इत्यादि चलाते है, लेकिन इसके साथ सरकार भी इनकी मदद करती है और ऐसी संगठन को सरकार भी बढावा देती है)
  • INGO: international NGO (यह पुरे दुनियाभर में लोगों की मदद करती है)
  • BINGO: business-friendly international NGO (बड़े व्यापारी लोगों के सीमित टीम ऐसी संगठन को स्वचालित करती है)
  • QUANGO: quasi-autonomous NGO (यह दुनियाभर में फैली एनजीओं के साथ मिलकर काम करती है)
  • ENGO: environmental NGO (इस तरह का संगठन पर्यावरण की देखभाल करने का जिम्मेदारी लेते है)
  • CSO: (यह नागरिक समाज संगठन के अंतर्गत कार्य करते है)

 

NGO का क्या काम है | What is the work of the NGO?

बिना लाभ प्राप्त किये ऐसी प्राइवेट संस्था जिनका purpose of NGO लोगों की काफी मदद करना होती है, जिनसे लोग इन्हें किसी भगवान की अवतार से भी कम नही मानते है।

  • गरीब/भिखारी लोगों को मुफ्त में खाना देना होता है।
  • जो बच्चा अनाथ है उसका भरण-पोषण मुफ्त में करना।
  • प्राकृतिक घटना के कारण हुई लोगों की क्षति में उनकी भोजन इत्यादि का प्रबंध करवाना।
  • वैसी विधवा या वृद्ध व्यक्ति जिनका अब इस दुनिया में कोई नही है, उनको अपने संगठन में जगह देना।
  • कोई अगर बीमार है, लेकिन उनके पास इसके इलाज में लगने वाली खर्च का पैसा नही है तो एनजीओ उनका मुफ्त में इलाज करवाते है।
  • पर्यावरण की सुरक्षा के लिए साफ-सफाई का काम करना।
  • पशु-पक्षी को भोजन, पानी देना।
  • शिक्षा से वंचित गरीब बच्चों मुफ्त में शिक्षा और कॉपी-किताब देना।
  • गर्मी के दिनों में होने वाली जल संकट को दूर करने के लिए यह लोगों तक पानी पहुँचाने का भी काम करते है।

 

NGO कैसे काम करती है | How does an NGO work

जैसा कि हमने आपको पहले बताया कि NGO की शुरुआत कोई भी कर सकता है, इसके लिए वह स्वतंत्र होते है, किसी भी एनजीओं में कम से कम 7 से अधिक सदस्य होते है,

जिसमें वह Chairman, Vice President, Secretary, Treasurer, Advisory Member इत्यादि के पदों पर कार्य होते है।

अधिकतर बड़े एनजीओं सरकार के साथ पंजीकृत होती है, जिसके जरिये उनको फंडिंग मिलती है और उस पैसा से वह जरुरतमंद लोगों की मदद करते है,

लेकिन कोई ऐसा कानून नही है कि एनजीओं चलाने के लिए पंजीकृत हो, आप चाहे तो ऐसे भी लोगों की मदद कर सकते है।

अधिक लोगों तक मदद पहुँचाने के लिए अपनी NGO को पंजीकरण करना एक अच्छी सुझाव है, क्योंकि इससे फायदा यह होगा कि सरकार आपको पैसा देती है लोगों की मदद करने के लिए।

सभी एनजीओं जाति, धर्म, बड़ा-छोटा से आगे बढ़कर मानवता को देखते हुए काम करती है। इसे अधिकतर ऐसे बिज़नस मैंन चलाते है जो लोगों की मदद करना चाहते है।

NGO registration proccess in India में आप तीन तरीके से पंजीकृत करवा सकते है।

  • Society act
  • Trust act
  • Company act

 

NGO की शुरुआत कैसे करें | How to start an NGO in Hindi

  1. एनजीओं की शुरुआत करने के लिए आपको अपने रजिस्ट्रार ऑफिस या चैरिटी कमिश्नर के पास जाना होगा, जहाँ आपको कई तरह की दस्तावेज जैसे :- सभी सदस्य का फोटो, ट्रस्ट का फोटो, एड्रेस प्रूफ, एफिडेविट, अपना आधार कार्ड को फॉर्म के साथ भरके जमा करना होता है।
  2. जब आपका रजिस्ट्रेशन हो जाती है तब ट्रस्ट के नाम का आपको पैन कार्ड बनवाना होगा, जिसकी मदद से आपको बैंक अकाउंट भी ओपन करना होगा, जिससे डोनेशन का पैसा उस अकाउंट में आ सकें।
  3. इसके साथ आपको अपने एनजीओं को नीति आयोग में भी पंजीकृत करवानी होती है, जिससे आपको सरकार से फण्ड मिल जाती है, जिसे आप ऑनलाइन ही कर सकते है।
  4. आप अगर विदेश से फंड लेना चाहते है तब आपको FCRA और बिना टैक्स दिए फंड लेना चाहते है तो आपको 80G जैसी संस्था के साथ पंजीकृत करवानी होती है।

 

Famous NGO in India 2021

यहाँ ऐसी एनजीओं का नाम दिया गया है. भारत में गरीब. बेसहारा लोगों की काफी मदद करता है और अनाथ बच्चों का भरण-पोषण करती है और उन तक शिक्षा भी पहुँचाती है :-

  • ChildLine India Foundation
  • Pratham
  • Smile Foundation
  • CRY (Child right and you)
  • The Akanksha Foundation
  • Spark-A-Change Foundation
  • Nanhi Kali (KC Mahindra Education Trust)
  • Make Difference
  • Bachpan Bachao Andolan
  • Magic Bus
  • Educate Girls
  • HelpAge India
  • LEPRA India
  • Deepalaya
  • Samman Foundation
  • .a voice, an effort

 

अंतिम शब्द

इस Article में आपने NGO Kya Hai? – NGO Full Form क्या है? अपना NGO Kaise Banaye जानिए पूरी जानकारी के बारें में जाना। आशा करता हूँ आप NGO की शुरुआत कैसे करें | How to start an NGO in hindi की पूरी जानकारी जान चुके होंगे।

आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी Share करना चाहिए तो इसे Social Media पर सबके साथ इसे Share अवश्य करें। शुरू से अंत तक इस Article को Read करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here